Allergy / एलर्जी

Allergy / एलर्जी

परिचय:-

इस रोग के कारण व्यक्तियों के शरीर पर छोटे-छोटे दाने निकल आते हैं और कभी-कभी तो इन दानों के साथ शरीर में खुजली भी मचने लगती है। इस रोग के कारण कभी-कभी व्यक्ति के गाल तथा शरीर की त्वचा शुष्क हो जाती है। एलर्जी रोग का इलाज प्राकृतिक चिकित्सा से किया जा सकता है।

एलर्जी रोग होने के लक्षण:-

          इस रोग से पीड़ित रोगी की त्वचा में चुभन, दाने निकलना, चकत्ते पड़ना, खुजली मचना, आंखे लाल होना, नाक का बहना, घबराहट होना, बेचैनी, नाक में खुजली मचना, नाक से अधिक मात्रा में स्राव होना, खांसी अधिक हो जाना, सांस लेने में कष्ट महसूस होना, सिर में दर्द होना, आधे सिर में दर्द तथा अधिक छींके आना जैसे लक्षण उभरते हैं। इसके अलावा इस रोग के कारण व्यक्ति को अन्य प्रकार की बीमारियां भी हो जाती है जो इस प्रकार हैं- हृदय रोग, अल्सर, दमा, एक्जिमा तथा मधुमेह आदि।

एलर्जी रोग होने का कारण :-

1.प्राकृतिक चिकित्सा के अनुसार एलर्जी रोग उन व्यक्तियों को होता है जिनके शरीर में रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक शक्ति कम हो जाती है।

2.यह रोग नशीले पदार्थों का सेवन करने, हानिकारक पदार्थ पेट में चले जाना, पेट में कीड़े होना तथा रसायन मिले भोजन का सेवन, सौन्दर्य प्रसाधन, किसी विशेष प्रकार का भोजन ग्रहण करने के कारण होता है।

3.औषधियों का अधिक प्रयोग करने के कारण भी एलर्जी रोग हो सकता है।

4.चीनी का अधिक सेवन करना या इससें बनी मिठाइयों का सेवन करने से भी एलर्जी रोग हो जाता है।

5.सिन्थेटिक कपड़े पहनने तथा अत्यधिक मानसिक तनाव हो जाने के कारण एलर्जी रोग हो सकता है।

एलर्जी रोग से पीड़ित व्यक्ति का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:-

1.एलर्जी रोग से पीड़ित रोगी का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करने के लिए सबसे पहले रोगी को 4-5 दिनों तक नींबू पानी, नारियल पानी, सब्जियों का रस और फलों के रस का सेवन करके उपवास रखना चाहिए। इसके बाद एक सप्ताह तक बिना पका हुआ भोजन सेवन करना चाहिए।

2.इस रोग से पीड़ित रोगी को कभी भी डिब्बाबंद खाद्य, नमक तथा चीनी का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इन चीजों के उपयोग के कारण रोगी की हालत और गंभीर हो सकती है।

3.एलर्जी रोग से पीड़ित रोगी को सोयाबीन दूध में डालकर पीना चाहिए। इसका प्रतिदिन सेवन करने से यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

4.एलर्जी के रोगी व्यक्ति को कुछ दिनों तक सुबह के समय में खाली पेट नीम के पत्तों को पीसकर पानी में मिलाकर पीना चाहिए तथा उसके आधे घंटे तक कुछ भी नहीं खाना चाहिए।

5.यदि रोगी व्यक्ति सुबह के समय में खाली पेट 5 बूंदे अरण्डी का तेल, या रस पानी में डालकर सेवन करे तो उसे बहुत अधिक लाभ मिलता है।

6.प्रतिदिन आवंले के चूर्ण में थोड़ी सी हल्दी मिलाकर पानी के साथ सेवन करने से एलर्जी रोग जल्द ही ठीक हो जाता है।

7.एलर्जी रोग से पीड़ित व्यक्ति यदि सूर्यतप्त नीली बोतल का पानी प्रतिदिन पीता है तो उसे बहुत अधिक लाभ मिलता है और रोगी व्यक्ति का रोग बहुत जल्दी ही ठीक हो जाता है।

8.एलर्जी रोग से पीड़ित रोगी यदि प्रतिदिन नाड़ी शोधन प्राणायाम, अर्धमत्स्येन्द्रासन, सर्वांसन तथा शवासन करे तो यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

9.अर्जुन की छाल को रात के समय पानी में डालकर सुबह के समय में इस पानी को छानकर काढ़ा बनाकर पीने से एलर्जी का रोग कुछ ही दिनों के अन्दर ठीक हो जाता है।

10.बहतहरिद्राखण्ड दवा 3gm 2time भोजन के पहले पानी से लेना, और त्रिफला चूर्ण 4gm लेना 2 time भोजन बाद पानी से।

…. Praying_Emoji_grande Praying_Emoji_grande ….