Do this 8 Powerful Benefits on Surya Shashti

Share:

Do this 8 Powerful Benefits on Surya Shashti

Do this 8 Powerful Benefits on Surya Shashti

सूर्य षष्ठी और उससे जुड़े उपाय

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को भगवान सूर्य की पूजा करने का विधान है। इस पर्व को सूर्य षष्ठी व्रत के रूप में मनाया जाता है। यह दिन सूर्य की पूजा और उससे जुड़े उपाय करने के लिए खास माना जाता है।

घर की 8 खास जगहों पर रखें तांबे के सूर्य

हर काम में मिलेगा दोगुना फल

वास्तु पंच तत्वों पर आधारित है । ये पंच तत्व है अग्नि, वायु, पानी, पृथ्वी व आकाश । सूर्य भी अग्नि का ही स्वरूप माना गया है । सूर्य भी वास्तु शास्त्र को प्रभावित करता है । अगर वास्तु अनुसार घर की इन 8 जगहों पर तांबे के सूर्य को दीवार पर लगाया जाएं तो हर इच्छा पूरी की जा सकती है ।

1.रात 12 से 3 बजे तक सूर्य पृथ्वी के उत्तरी भाग में होता है । उत्तर धन की दिशा होती है । अगर धन की कमी हो तो घर में जहां कीमती वस्तुओं या जेवरात आदि रखें हो, वहां तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने से घर में कभी पैसों की कमी नहीं होती ।

2.रात 3 से सुबह 6 बजे तक सूर्य पृथ्वी के उत्तर-पूर्वी भाग में होता है । यह समय चिंतन व अध्ययन का होता है । बच्चे पढ़ाई में कमजोर हो तो स्टडी रुम या बच्चों के कमरे में सूर्य प्रतिमा लगाने से पढ़ाई में सफलता मिलती है ।

3.सुबह 6 से 9 बजे तक सूर्य पृथ्वी के पूर्वी हिस्से में रहता है । इस समय सूर्य की रोशनी रोगों से बचाती है । घर में अगर बीमारियाँ ज्यादा हो तो हाॅल में सूर्य प्रतिमा लगानी चाहिए, जहां घर के सभी सदस्य ज्यादा से ज्यादा समय बिताते हों ।

Know More Chhath Puja Vidhi Aur Surya Arghya Mantra

4.सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक सूर्य पृथ्वी के दक्षिण-पूर्व में होता है । यह समय भोजन पकाने के लिए उत्तम होता है । इसलिए घर के किचन में तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने से घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती ।

5.दोपहर 12 से 3 बजे के दौरान सूर्य दक्षिण में होता है, इसे विश्रांति काल (आराम का समय) मानते है । अगर घर में अशांति या झगड़े का माहौल रहता है तो घर के मुखिया के बेडरूम में सूर्य प्रतिमा लगाने से कोई परेशानी नहीं आती ।

6.दोपहर 3 से शाम 6 के दौरान सूर्य दक्षिण-पश्चिम भाग में होता है। यह समय अध्ययन और कार्य का समय होता है । व्यापार में नुकसान हो रहा हो तो ऑफिस या दुकान में सूर्य प्रतिमा लगाने पर बिजनेस में लगातार तरक्की होती है ।

Know More Aditya Hrudaya Stotra

7.शाम 6 से रात 9 में सूर्य पश्चिम दिशा की ओर आता है । इस समय में देव पूजा और ध्यान के लिए अच्छा मानते है । इसलिए घर के मंदिर में तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने से घर-परिवार पर सूर्य देव की कृपा बनी रहती है ।

8.रात 9 से मध्य रात्रि के समय सूर्य उत्तर-पश्चिम में होता है । घर के बेडरूम में तांबे की सूर्य प्रतिमा लगाने पर वहां रहने और सोने वालों को मान-सम्मान की प्राप्ति होती है।

 

Surya Shashthi and its related remedies

There is a law to worship Lord Surya on the sixth day of Shukla Paksha of Kartik month. This festival is celebrated as Surya Shashthi Vrat. This day is considered special for worshiping the Sun and taking measures related to it.

Keep copper sun in 8 special places of the house

You will get double Benefit in every work

Vastu is based on five elements. These five elements are fire, air, water, earth and sky. The sun is also considered a form of fire. Sun also affects Vastu Shastra. According to Vastu, if the copper sun is placed on the wall at these 8 places of the house, then every wish can be fulfilled.

1. The sun is in the northern part of the earth from 12 to 3 pm. North is the direction of money. If there is a shortage of money, then there is never a shortage of money in the house by installing a copper sun statue in the house where you keep valuable items or jewelry etc.

2. From 3 pm to 6 am, the Sun is in the north-eastern part of the Earth. This is the time for contemplation and study. If children are weak in studies, then placing a sun statue in the study room or children’s room gives success in studies.

3. From 6 to 9 in the morning, the sun remains in the eastern part of the earth. Sunlight at this time protects from diseases. If there are more diseases in the house, then sun idol should be installed in the hall, where all the members of the house spend maximum time.

Know More 12 Steps of Surya Namaskar Yoga Benefits

4. From 9 in the morning to 12 in the afternoon, the sun is in the south-east of the earth. This is the best time for cooking food. Therefore, by installing a copper sun statue in the kitchen of the house, there is never a shortage of food in the house.

5. Sun is in the south during 12 to 3 pm, it is considered as Vishranti Kaal (rest time). If there is an atmosphere of turmoil or quarrel in the house, then there is no problem by placing a sun statue in the bedroom of the head of the house.

6. During 3 pm to 6 pm, the sun is in the south-west part. This is the time for study and work. If there is a loss in business, then there is continuous progress in the business by placing a sun statue in the office or shop.

7. In the evening from 6 to 9 in the night, the sun comes towards the west. In this time, God considers it good for worship and meditation. Therefore, by placing a copper sun statue in the temple of the house, the blessings of the Sun God remain on the family.

8. The sun is in the north-west from 9 pm to midnight. By placing a copper sun statue in the bedroom of the house, the people living and sleeping there get respect and respect.

…. Praying_Emoji_grande Praying_Emoji_grande ….